amazon banner

Thursday, August 12, 2021

कैसे जाने आप हीरो है या विलन? | you are a hero or a villain?

 कैसे जाने आप हीरो है या विलन? | you are a hero or a villain?



दुनिया एक रंगमंच है यह बात बिलकुल सही है। यहाँ लोग किरदार निभाते है। किरदार अच्छा भी होता है और बुरा भी।

मान लो... अगर यह दुनिया एक फिल्म की तरह है तो आप अपना किरदार किस तरह का रखना चाहोगे?

ज्यादातर लोगों का जवाब आएगा कि वो इस फिल्म में खुद को हीरो की तरह पेश करना चाहेंगे। हर व्यक्ति खुद को अच्छा और भला इंसान ही दिखाना पसंद करेगा। अब हकीकत में आ जाते कि अभी तक आप सबने किस तरह का किरदार निभाया ?

एक हीरो की तरह या एक विलन की तरह?
इस इससे पहले कि आप जवाब दे मैं आपको बता देना चाहता हूँ कि इस दुनिया में सभी लोग खुद को अच्छा और भला इंसान मानते है और दूसरों को बुरा और विलन समझते है।
लेकिन समझने में और होने में जमीन आसमा का फर्क है।




हम चाहे खुद को कितना भी अच्छा समझे लेकिन सच तो वो इंसान ही जानता है जिसका हमने दिल दुखाया या जिसे हमने मुस्कुराहट दी
इस रंगमंच की दुनिया में कैमरा इंसान के मन के अंदर लगा हुआ है। इंसान ने कब, किसके बारे क्या सोचा सब रिकॉर्ड होता है।

बस...... यही कैमरा ही बताता है कि हम कितने अच्छे इंसान है या कितने बुरे इंसान है

वरना खुद को अच्छा और दूसरों को बुरा समझने वाले लोगों की दुनिया में कोई कमी नहीं।
किसी अच्छे इंसान को बुरा और बुरे इंसान को अच्छा समझ लेना बहुत आम सी बात हो गयी है।

दरसल इंसान अपने मन के कहे अनुसार इंसान को प्यार या नफरत करता है। और मन का तो स्वाभाव ही है कि जो उसके अहंकार को बढाता है उसे वो प्रेम करता है और जो उसके अहंकार को तोड़ता है या हानि पहुंचता है उससे नफरत करता है

इसी कारण मनुष्य को अच्छा इंसान बुरा दीखता है बुरा इंसान अच्छा दिखता है। वैसे देखा जाये, तो यह बात हर व्यक्ति पर निर्भर नही होती। कुछ लोग इन सब से आगे बढ़कर सही इंसान की पहचान भी कर पते है। ऐसे इंसान खुद को और दूसरों को समझने में काफी अच्छे होते है। उन्हें यह पता होता है कि वे खुद कहाँ गलत और दुसरे लोग कहा सही है

आप किस तरह के व्यक्ति है यह आप ही जानते है। लेकिन इंसान चाहे कितना भी अच्छा झूठ का दिखावा कर ले लेकिन खुद के मन के भीतर लगे कैमरे से कभी नहीं बाख सकता। उसी से यह निधारित होता है कि आप हीरो है या विलन

copyright ©  Yogendra Singh
sirfyogi.com

1 comment:

मनुष्य के जीवन में सुख-दुःख क्यों आता है?

मनुष्य के जीवन में सुख-दुःख क्यों आता है? संसार में रहने वाले हर मनुष्य के जीवन में सुख-दुःख का आगमन जरुर होता है । जब सुख आता है तब इंसान क...